मोबाइल इंडस्ट्री का बहुत तेजी से बढ़ रहा है बाजार

मोबाइल इंडस्ट्री ग्रो इसलिए भी कर रही है क्योंकि हर जगह डिजिटल जमाना चल रहा है छोटे से छोटा काम भी डिजिटल तरीके से हो रहा है चाहे वह दुकान पर पेमेंट ही क्यों न करना हो और फ्यूचर में मोबाइल इंडस्ट्री और भी ज्यादा ग्रो करने वाली है क्योंकि आने वाली जनरेशन को अभी से इसकी आदत सी पड़ती जा रही है और इसके नुकसान भी बहुत ज्यादा है लोग जितना डिजिटल हो रहे हैं उतना ही आलस भी लोगों के अंदर बढ़ता जा रहा है जिसके कारण इंसान की एवरेज उम्र 60 से भी ज्यादा घट सकती है

इसीलिए इतना डिजिटल होना भी नुकसानदायक हो सकता है खासकर आने वाली जनरेशन को इससे दूर रहना चाहिए यह जरूरी इसलिए अभी है क्योंकि हम जो सीखना चाहते हैं उसके लिए हमें उससे रिलेटिव डेटा की जरूरत पड़ती है जो की इंटरनेट से जल्दी प्राप्त किया जा सकता है जिससे हमारे अपोजिट वाले भी हमसे आगे ना सो पा सके उससे पहले ही हम उनसे आगे निकलने की कोशिश करने के लिए इसका उसे उपयोग करते हैं जिससे कि हमें जल्द से जल्द ज्यादा जानकारी हासिल हो सके,इससे जानकारी जुटाना भी बहुत आसान होता है

इसलिए ज्यादातर लोग इसका ही उपयोग करते हैं कई बार हम इसी डाटा की मदद से कहीं ऐसे ऐसे रोबोट बना देते हैं जो की खतरनाक भी होते हैं और लाभकारी भी होते हैं खतरनाक इस वजह से भी होते हैं क्योंकि वह लोगों की नौकरियां खा जाते हैं एक रोबोट कम से कम 10 नौकरियां खा जाता है इसीलिए यह नुकसानदायक भी है लाभकारी इसलिए भी है क्योंकि 10 दिन का कार्य एक दिन में इनकी मदद से पूरा किया जा सकता है जो की बहुत कम समय लेते हैं और उनकी काम करने की स्पीड भी हम इंसानों की तुलना में बहुत ज्यादा होती है बहुत ज्यादा स्पीड होने के कारण यह एक बार में बहुत ज्यादा सामान को तैयार कर सकते हैं यह एक इसका लाभ है परंतु यह है बहुत मूल्यवान भी होते हैं जिसके कारण बहुत लोग उनको फ्री भी नहीं पाते हैं

सूर्या प्रताप सिंह( टेक एक्सपर्ट ) Surya Pratap Singh (Tech Expert)

भारत में आईफोन-15 का लॉन्च भारतीय मोबाइल उद्योग के लिए एक महत्वपूर्ण घटना है। मोबाइल उद्योग वैसे भी रोजगार की दृष्टि से काफी उर्वर माना जाता है। लेकिन आईफोन-15 और अब आईपॉइस के मेड इन इंडिया उत्पादन शुरू होने से इस क्षेत्र में संभावनाएं और भी ज्यादा बढ़ गई हैं। मोबाइल कंपनियां योग्य उम्मीदवारों को अच्छे पैकेज पर हायर कर रही हैं। इससे जुड़े कोर्स करने के बाद इन मोबाइल कंपनियों में आप प्रोजेक्ट मैनेजर, सिस्टम इंजीनियर, जूनियर इंजीनियर, ऑपरेशन हेड के रूप में सेवाएं दे सकते हैं। भारत में मोबाइल के बढ़ते निर्माण से भारतीय अर्थव्यवस्था को कई लाभ होंगे। विनिर्माण और खुदरा क्षेत्रों में नौकरियां पैदा होंगी।

बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद (A large number of people are expected to get employment)

भारत में मोबाइल उद्योग तेजी से बढ़ रहा है। 2023 में,भारत की मोबाइल फोन को बिक्री में 2022 की तुलना में 10 फीसद की वृद्धि हुई है। इस बढ़ते बाजार के कई कारण हैं, जिनमें बढ़ते मध्यम वर्ग, डिजिटलीकरण और बेहतर इंटरनेट कनेक्टिविटी शामिल हैं। मोबाइल उद्योग में वृद्धि से रोजगार में भी वृद्धि हो रही है। 2023 में, भारत में मोबाइल उद्योग में 70 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। यह संख्या 2022 की तुलना में 15 फीसद ज्यादा है। इससे भारतीय युवाओं को अपनी शिक्षा और कौशल का उपयोग करने का अवसर मिलेगा और वे अच्छी नौकरियां प्राप्त कर सकेंगे।

सेमीकंडक्टर उद्योग का भी हो रहा तीव्र विकास (Semiconductor industry is also developing rapidly)

भारत में सेमीकंडक्टर उद्योग तेजी से विकसित हो रहा है, और इस क्षेत्र में भारत की एक प्रमुख वैश्विक खिलाड़ी बनने की क्षमता है। मोबाइल फोन में इस्तेमाल होने वाले अधिकांश घटक सेमीकंडक्टर से बने होते हैं, जिनमें प्रोसेसर, मेमोरी, और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण शामिल हैं।

मैन्युफैक्चरिंग से लेकर स्टार्टअप में है संभावनाएं (There are possibilities from manufacturing to startup)

मोबाइल इंडस्ट्री में दिलचस्पी रखने वालों के लिए मैन्युफैक्चरिंग, मैनेजमेंट असेंबली लाइन, हार्डवेयर क्षेत्र में नौकरी के विकल्प मौजूद हैं। इसके अलावा मोबाइल इंडस्ट्री में अपना स्टार्टअप शुरू करने के इच्छुक व्यवसायियों को रॉ मटेरियल्स भी प्रोवाइड करा सकते हैं।

आईफोन- 15 और iPad के मेड इन इंडिया उत्पादन शुरू होने से इस क्षेत्र में संभावनाएं और भी ज्यादा बढ़ेंगी।

एप मार्केट, गेमिंग में भी आ रही है तेजी (App market and gaming are also gaining momentum)

भारत में स्मार्टफोन के तेजी से बढ़ते इस्तेमाल के साथ ही मोबाइल एप यानी मोबाइल एप्लीकेशन का बाजार भी तेजी से बढ़ रहा है। इससे रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ी हैं, क्योंकि यह वेबसाइट से कहीं ज्यादा बड़ा मार्केट है। इसकी पहुंच भी ज्यादा है। गेमिंग इंडस्ट्री के लिए भी स्कोप बढ़ते ही जा रहे हैं। गेम प्रोड्यूसर, गेम डिजाइनर, गेम डेवलपर, एनिमेटर के तौर पर अपना कॅरिअर बना सकते हैं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *